देशभर के आर्थ्रोस्कोपिक सर्जन जुटेंगे इंदौर में

  
Last Updated:  Wednesday, September 25, 2019  1:27 pm

घुटने और कंधे जैसे जोड़ों को बचाने पर होगा विचार विमर्श

  1. इंदौर । सोसाइटी ऑफ आर्थ्रोस्कोपिक सर्जन की नेशनल एनुअल कॉन्फ्रेंस का आयोजन इंदौर में होने जा रहा है। 2 दिनों तक चलने वाली इस कॉन्फ्रेंस में देशभर के 500 से ज्यादा आर्थ्रोस्कोपिक सर्जन भाग ले रहे हैं। इसके साथ ही विदेशों से भी बड़ी संख्या में डॉक्टर से आ रहे हैं। कांफ्रेंस के दौरान घुटने कंधे, हिप, एडी, एल्बो ,और कलाई के जॉइंट को लेकर आई इलाज की नई तकनीकों पर बात की जाएगी ।
    उपरोक्त जानकारी नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑर्गेनाइजिंग कमिटी के चेयरमैन डॉ. मनीष माहेश्वरी, सचिव डॉ. विनय तेंतुवाय , डॉ तन्मय चौधरी और साइंटिफिक कमेटी के चेयरमैन डॉ. पंकज व्यास व कोषाध्यक्ष डॉ. अर्जुन जैन ने दी। उन्होंने बताया कि आर्थ्रोस्कोपिक सर्जेंस की कॉन्फ्रेंस प्।ैब्व्छ 2019 का आयोजन 27 सितंबर को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर इंदौर में किया जा रहा है। इस कांफ्रेंस में भाग लेने के लिए देश भर से 500 से ज्यादा आर्थ्रोस्कोपिक सर्जन आ रहे हैं । इसके साथ ही साउथ कोरिया से डॉक्टर योंग्गर्ल री बेल्जियम से डॉ रेने वेर्दोंक, यूके से डॉ. संतोष वेंकटाचलम, नेपाल से डॉ अमित जोशी, यूके से डॉ अजय मालवीय व डॉ राजेश ककवानी इस कांफ्रेंस में भाग लेने के लिए खास तौर से आ रहे हैं। कार्यक्रम में देश के जाने- माने अर्थोस्कोपिक सर्जन डॉ सचिन तपस्वी पुणे, डॉ दिनशॉ पारदीवाला मुंबई, डॉ डेविड राजन कोयंबटूर, डॉ. संजय देसाई मुंबई, डॉ. संजय त्रिवेदी अहमदाबाद डॉक्टर्स को संबोधित करेंगे ।
    कांफ्रेंस के दौरान 27 सितंबर को सुबह 10ः30 बजे तकनीकी सत्रों का आयोजन किया जाएगा । देशभर से आए सर्जन को लाइव सर्जरी भी दिखाई जाएगी। 2 दिनों के इस कांफ्रेंस में 21 लाइफ सर्जरी होगी । कार्यक्रम के दौरान देशभर से आए एक्सपर्ट घुटने , कंधे हिप, एड़ी और कलाई में होने वाले इंजुरी, दर्द पर बात करेंगे और इसके दूरबीन पद्धति से इलाज की नवीन तकनीकों से रूबरू कराएंगे। इस दौरान शोध पत्र भी प्रस्तुत करेंगे। सांयकाल में कार्यक्रम का औपचारिक शुभारंभ होगा जिसके मुख्य अतिथि एसोसिएशन ऑफ आर्थोस्कोपिक सर्जन के प्रेसिडेंट डॉ प्रतीक गुप्ता व सचिव डॉ. स्वर्णेन्दु सामंता होंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *